ग्लोबल मीट की तैयारियों पर मोदी ने की समीक्षा बैठक

Global Summit: Modi reviews preparations

पटना : 17 फरवरी से होने वाले ग्लोबल मीट में बिहार की विकास का प्रदर्शन लघु फिल्मों के माध्यम से किया जायेगा। इस मीट में बिहार की ब्रांडिंग की जायेगी। विदित हो कि यह कार्यक्रम 17 फरवरी से 19 फरवरी तक चलेगा। इसमें हिस्सा लेने दुनिया भर में फैले प्रवासी बिहार पहुचेंगें। उन्हें बदलते बिहार व बिहार के विकास की तस्वीर से अवगत कराया जायेगा। इसमें बिहार के विकास की संभावनाओं पर भी व्यापक चर्चा की जायेगी। प्रवासी बिहारियों को प्रगति के पथ पर बढ़ते बिहार के उत्पादों व उपलब्धियों को लघु फिल्मों के माध्यम से दिखाया जायेगा। इसके अलावा गौरवशाली सांस्कृतिक विरासत तथा ऐतिहासिक संदर्भों पर भी चर्चा की जाएगी। इस ग्लोबल मीट को सफल बनाने की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। बुधवार को तैयारियों के बाबत बैठक आयोजित की गयी। इस बैठक में इस बात की समीक्षा की गयी कि ग्लोबल मीट के आयोजन की तैयारी में अभी क्या-क्या बाकी रह गया है। अतिथियों के स्वागत में कोई कोर-कसर बाकी न रह जाये, इसकी पूरी व्यवस्था की जा रही है। अतिथियों के ठहरने एवं परिवहन समेत अन्य सुविधाओं के संदर्भ में भी व्यापक रूप से समीक्षा की गई। बिहार फाउंडेशन की बैठक में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इस आयोजन के तैयारियों की समीक्षा की। गौरतलब है कि राजधानी के जिन होटलों में अतिथियों को ठहराया जाएगा, वहां से मुख्य कार्यक्रम स्थल (होटल मौर्या लोक) तक आवागमन के लिए ‘एसी बस’ की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। होटल वालों के सहयोग से लग्जरी वाहन भी उपलब्ध कराये जायेंगे। इस अवसर पर ग्लोबल मीट में होन वाले कार्यकर्मों का भी एक प्रारूप तैयार किया गया। कार्यक्रम के पहले दिन 17 फरवरी को फिल्म स्क्रीनिंग, साक्षरता अध्ययन, एनजीओ फोरम द्वारा बिहार के विकास पर प्रजेंटेशन, नेपाल के प्रधानमंत्री द्वारा ग्लोबल मीट का उद्घाटन, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का संबोधन, उप मुख्यमंत्री समेत अन्य मुख्य वक्ताओं का संबोधन, बिहारी उत्पादों की प्रदशर्नी व अंतिम सत्र-विजन आफ न्यू बिहार पर विद्वानों का अभिमत। कार्यक्रम के दूसरे दिन 18 फरवरी को बदलते बिहार, उपलब्धियां, अवसर और चुनौतियों पर विमर्श, कायर्शाला, प्रवासी बिहारियों द्वारा विकासशील बिहार पर अभिमत, सांस्कृतिक कार्यक्रम जबकि कार्यक्रम के अन्तिम दिन 19 फरवरी को बिहार के सांस्कृतिक और दार्शनिक विरासत पर चर्चा, विकसित बिहार की परिकल्पना, एजेंडा और उसका क्रियान्वयन पर विमर्श, समापन सत्र में मुख्यमंत्री एवं उप मुख्यमंत्री का संबोधन कर कार्यक्रम का समापन किया जाएगा। समीक्षा बैठक में राज्यसभा सांसद एनके सिंह, उद्योग विभाग के प्रधान सचिव सह बिहार फाउंडेशन के मुख्य कार्य पदाधिकारी सीके मिश्रा, कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के प्रधान सचिव सी लालसोता, शिक्षा विभाग के सचिव एस शिवकुमार, पटना प्रमंडल के आयुक्त डॉ केपी रमय्या, ग्लोबल मीट के कोआडिर्नेटर डॉ अवध नारायण शर्मा और आद्री के सचिव शैवाल गुप्ता समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>